राज्य

केंद्रीय जांच एजेंसी ईडी के बाद अब आयकर विभाग भी एक्शन में है. बंगाल के बाद महाराष्ट्र में भी आयकर विभाग की छापेमारी में भारी कैश मिला है. महाराष्ट्र के जालना में आयकर विभाग ने स्टील, कपड़ा व्यपारी और रियल एस्टेड डेवलपर के यहां छापेमारी की है, जिसमें बड़ी मात्रा में बेनामी संपत्ति विभाग को मिली है.. करीब 390 करोड़ की बेनामी संपत्ति को आयकर विभाग ने जब्त किया है..

VIGYAPAN
photostudio_1634614114400
IMG-20211220-WA0000
photostudio_1633317682627
photostudio_1651243523526

केंद्रीय जांच एजेंसी ईडी के बाद अब आयकर विभाग भी एक्शन में है. बंगाल के बाद महाराष्ट्र में भी आयकर विभाग की छापेमारी में भारी कैश मिला है. महाराष्ट्र के जालना में आयकर विभाग ने स्टील, कपड़ा व्यपारी और रियल एस्टेड डेवलपर के यहां छापेमारी की है, जिसमें बड़ी मात्रा में बेनामी संपत्ति विभाग को मिली है..

करीब 390 करोड़ की बेनामी संपत्ति को आयकर विभाग ने जब्त किया है, इसमें 58 करोड़ रुपये कैश, 32 किलो सोना, हीरे-मोती के दाने और कई प्रॉपर्टी के कागजात मिले हैं.

छापेमारी में मिले कैश को गिनने में विभाग को 13 घंटे का समय लगा. इनकम टैक्स ने 1 से 8 अगस्त के बीच यह कार्रवाई की है. आयकर विभाग की नासिक ब्रांच ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया है. राज्य भर के 260 अधिकारी और कर्मचारी इस कार्रवाई में शामिल थे. आईटी की कर्मचारी पांच टीमों में बंटे हुए थे और छापेमारी में 120 से ज्यादा गाड़ियों का इस्तेमाल हुआ.

सुबह 11 से रात 1 बजे तक गिना गया कैश

कपड़ा और स्टील कारोबारी के घर से मिले कैश को जालना के स्थानीय स्टेट बैंक की शाखा में ले जाकर गिना गया. सुबह 11 बजे से कैश गिनने का काम शुरू हुआ था और रात में करीब एक बजे तक कैश गिनने का काम खत्म हुआ. आयकर विभाग को सूचना मिली थी कि जालना के चार स्टील कंपनी के व्यवहार में अनियमितताएं हैं, जिसके बाद आयकर विभाग एक्शन में आया. आईटी की टीम ने घर और कारखानों में छापेमारी की. हालांकि घर में टीम को कुछ नहीं मिला, लेकिन शहर के बाहर फार्महाउस में नकदी और सोना-हीरे समेत कई कागजात बरामद हुए.

Source

Related Articles

Back to top button
Close
Close