राज्य

महाराष्ट्र में कोरोना केसों में कमी के बावजूद लॉकडाउन जैसी पाबंदियां अभी खत्म नहीं होने जा रही हैं। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा है कि 21 जिलों में कोरोना संक्रमण दर अभी भी 10 फीसदी से अधिक है और इसलिए पाबंदियां नहीं हटाने का फैसला लिया गया है। हालांकि, उन्होंने यह जरूर कहा कि जिन जिलों में केस कम हो रहे हैं, वहां कुछ ढील दी जा सकती है

photostudio_1601020483281 (1)
VIGYAPAN
IMG-20210623-WA0059

 

महाराष्ट्र में कोरोना केसों में कमी के बावजूद लॉकडाउन जैसी पाबंदियां अभी खत्म नहीं होने जा रही हैं। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा है कि 21 जिलों में कोरोना संक्रमण दर अभी भी 10 फीसदी से अधिक है और इसलिए पाबंदियां नहीं हटाने का फैसला लिया गया है। हालांकि, उन्होंने यह जरूर कहा कि जिन जिलों में केस कम हो रहे हैं, वहां कुछ ढील दी जा सकती है।
राजेश टोपे ने गुरुवार को कहा, ”यह फैसला लिया गया है कि कोविड-19 की वजह से लागू सभी पाबंदियों को अभी नहीं हटाया जाएगा, क्योंकि 21 जिलों में पॉजिटिविटी दर 10 फीसदी से अधिक है।

उन जिलों में ढील दी जा सकती है, जहां केस कम हो रहे हैं। कुछ दिनों में गाइडलाइंस जारी की जाएंगी।”
महाराष्ट्र में बुधवार को कोरोना वायरस के 24752 नए मामले सामने आए, जबकि 24 घंटे में कोरोना वायरस से 453 और लोगों की मौत हुई है। राज्य में कोरोना रिकवरी रेट 92.76 फीसदी पर पहुंच गया है तो कोरोना पॉजिटिविटी रेट 8.73 फीसदी है। राज्य में पिछले महीने प्रतिदिन आने वाले केसों की संख्या करीब 70 हजार तक पहुंच गई थी। कोरोना संक्रमण पर काबू पाने के लिए राज्य में पाबंदियां लगाई गई हैं।

Source 28-05-2021

Related Articles

Back to top button
Close
Close